मोदी के गलत फैसलों से बर्बाद हुई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए 40 साल लगेगें – डा मनमोहन सिंह

  • 635
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर आज जमकर प्रहार करते हुए कहा कि अर्थव्यवस्था की तबाही वाले इस क़दम का असर अब स्पष्ट हो चुका है तथा इसके घाव गहरे होते जा रहे हैं।

मनमोहन सिंह ने एक बयान में यह भी कहा कि मोदी सरकार को अब ऐसा कोई आर्थिक क़दम नहीं उठाना चाहिए जिससे अर्थव्यवस्था के संदर्भ में अनिश्चितता की स्थिति पैदा हो।

उन्होंने कहा, नरेंद्र मोदी सरकार ने 2016 में त्रुटिपूर्ण ढंग से और सही तरीके से विचार किए बिना नोटबंदी का कदम उठाया था. आज उसके दो साल पूरे हो गए. नोटबंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था पर जो कहर बरपा, वह अब सबके सामने है. नोटबंदी ने हर व्यक्ति को प्रभावित किया, चाहे वह किसी भी धर्म, जाति, पेशे या संप्रदाय का हो।

मनमोहन सिंह ने कहा, अक्सर कहा जाता है कि वक़्त सभी ज़ख़्मों को भर देता है लेकिन नोटबंदी के ज़ख़्म-दिन-ब-दिन और गहरे होते जा रहे हैं उन्होंने कहा कि देश के मझोले और छोटे कारोबार अब भी नोटबंदी की मार से उबर नहीं पाए हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, नोटबंदी से जीडीपी में गिरावट आई, उसके और भी असर देखे जा रहे हैं। छोटे और मंझोले कारोबार भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं जिसे नोटबंदी ने पूरी तरह से तोड़ दिया। अर्थव्यवस्था लगातार जूझती दिखाई पड़ रही है जिसका बुरा असर रोज़गार पर पड़ रहा है युवाओं को नौकरियां नहीं मिल पा रही हैं. बुनियादी ढांचे के लिए दिए जाने वाले क़र्ज़ और बैंकों की गैर-वित्तीय सेवाओं पर भी बहुत बुरा असर पड़ा है।उन्होंने कहा, नोटबंदी के कारण रुपये का स्तर गिरा है जिससे वृहद आर्थिक आंकड़े भी प्रभावित हुए हैं।

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।

loading...

उधर, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नोटबंदी से औपचारिक अर्थव्यवस्था का विस्तार हुआ और कर आधार भी बढ़ा. इससे सरकार के पास गरीबों के हित में काम करने और बुनियादी ढांचे का विकास करने के लिए अधिक संसाधन उपलब्ध हुए।

कल अरुण जेटली ने इन्कम टैक्स रिटर्न दाखिल करने को लेकर हास्यास्पद बयान दिया कि देश के 130 करोङ लोग इन्कम टैक्स रिटर्न दाखिल कर रहे है जबकि देश की कुल जनसंख्या ही 130 करोङ है।

  •  
    635
    Shares
  • 635
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment