ब्रेकिंग न्यूज़ – कन्हैया कुमार भूमिहार हैं। जेएनयू हंगामे के दौरान ही गोदी मीडिया ने बता दिया था

चुनाव कामरेड कन्हैया लड़ रहे हैं, भगवान परशुराम नही सोशल मीडिया पर सक्रियता के जो साइड इफेक्ट हैं, उनमें आपका ना चाहते हुए रियेक्रशनरी होना जाना भी शामिल है। आखिर ट्रेंड कर रहे हर मुद्धे पर आपका बोलना या लिखना ही ज़रूरी क्यों है? मैने एक बार कहा था कि ये खेल क्रिकेट टेस्ट मैच जैसा है, जहां कई बार शॉट खेलने से ज्यादा अहमियत बॉल छोड़ने की होती है। कई सवालों पर मेरे पास कहने को बहुत कुछ होता है, फिर भी लिखने से बचता हूं। आखिर निठल्ले चिंतन…

क्या आप किसी ऐसी पार्टी के बारे में जानते हैं जिसने 2 साल से कम समय के भीतर सैंकड़ों नए कार्यालय बना लिए हों ?

बहुमंज़िला जनता पार्टी- बीजेपी ने दो साल में बना लिए कई सौ नए बहुमंज़िला कार्यालय क्या आप किसी ऐसी पार्टी के बारे में जानते हैं जिसने दो साल से कम समय के भीतर सैंकड़ों नए कार्यालय बना लिए हों ? भारत में एक राजनीतिक दल इन दो सालों के दौरान कई सौ बहुमंज़िला कार्यालय बना रहा था, इसकी न तो पर्याप्त ख़बरें हैं और न ही विश्लेषण। कई सौ मुख्यालय की तस्वीरें एक जगह रखकर देखिए, आपको राजनीति का नया नहीं वो चेहरा दिखेगा जिसके बारे में आप कम जानते…

ये आदमी पढ़ा लिखा होता तो इसको “स” और “श” मे फर्क भी पता होता !

चुनाव प्रचार में अपने जुमलों को लेकर खासा चर्चा में रहते हैं देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी इनके जुमले हमेशा से ही लोगों के ज़ुबान पर रहा है। जहा कुछ जुमले युवाओं में जोश फूकने वाले रहे वही कुछ ने जनता में रोमांच भर दिया। आइए जानते है नरेंद्र मोदी के कुछ ऐसे ही प्रसिद्ध जुमलों के बारे में.… ‘अच्‍छे दि‍न आने वाले हैं’ FDI का मतलब ‘फर्स्‍ट डेवलप इंडि‍या’ मैं विकास करने आया हूं, कहावतें बदलने आया हूं’ कश्मीर की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए ये…

1.2 करोड की जॉब देकर गूगल ने माना IIT प्रवेश परीक्षा में फेल इस “मुस्लिम” छात्र की प्रतिभा का लोहा ।

अब्दुल्लाह खान मुंबई के मीरा रोड स्थित श्री एल आर तिवारी इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र हैं, उन्होंने इस बारे में बात करते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी गूगल में नौकरी के लिए अप्लाई नहीं किया । कंपनी ने उन्हें एक कंपिटीशन प्रोग्राम चैलैंज होस्ट करने वाली साइट पर उनका प्रोफाइल देखकर उन्हें बुलाया , उन्होंने कहा इस कॉल की उन्हे बिलकुल उम्मीद नहीं थी यहाँ तक कि उन्होंने इस कॉम्पटीशन में नौकरी मिलने की उम्मीद से हिस्सा नहीं लिया था ये तो उन्होंने बस फन के लिए किया था…

नितिन गडकरी को कोई नही हरा सकता वे उदार व्यक्तित्व के धनी है। कोई भी दलित मुस्लिम उनके पास काम से जाते हैं तो वो उसे कर देते हैं।

नागपुर में गडकरी साहब को हराना नामुमकिन है, लिख लो। उनकी बौद्ध, दलित और मुस्लिम मे बहुत अच्छी पकड है। इन सब तबको का बडा वोट गडकरी साहब को पिछली बार मिला था, लगता है इस बार भी मिल ही जायेगा। किसी भी धर्म, जाति, वर्ग का व्यक्ति उनके बारे में अच्छा ही बोलता है। गडकरी जी उदार व्यक्तित्व के धनी है। कोई भी दलित मुस्लिम उनके पास किसी काम से जाते हैं तो वो उस काम को पुरा कर देते हैं। किसी मुस्लिम की छोटी सी दुकान हो और…

सेना और इसरो अब पीएम नरेन्द्र मोदी की राजनीतिक दरगाह बन गयी है।

वैज्ञानिक कथाकार नरेंद्र मोदी का राष्ट्र को संबोधन और चुनाव आयोग का समापन अगस्त 2008 की एक सुबह हम चेन्नई से श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर पहुँचे थे। दुनिया भर से आए दर्जनो अंतरिक्ष-पत्रकारों के बीच मैं गाँव गली कवर करने वाला भी पहुँच गया था। भारत अपना पहला मून मिशन चंद्रयान का प्रक्षेपण करने वाला था। वहाँ दुनिया भर से आए ऐसे पत्रकार थे जो कई वर्षों से अंतरिक्ष प्रक्षेपण कवर कर रहे थे। यही उनका कार्यक्षेत्र भी था। वे भारत की कामयाबी को शक और हैरत से…

वक़्त कैसे बदल जाता है, कभी भी अपने ओहदे, पैसे या जवानी पर फ़ख्र मत करना, ये सब चला जायगा बाक़ी रहेगा तो सिर्फ़ अच्छा किरदार, नेकी और खूबसूरत यादें !

ये वह शख्स है जिसे दुनिया भर के नौजवान जिनको बाडी-बिलडिन्ग का शौक़ था, ये उनका रोल माडल था, बादी बेल्डिन्ग की दुनिया का बेताज बादशाह ARNOLD ने बे-पनाह मेहनत के बाद दुनिया में अपनी खास पहचान बनाई, फिर क़िसमत की महेरबानियाँ शुरूआत हुईं फ़िट्नेस स्टार के बाद फ़िल्म स्टार और उसके बाद गवर्नर बना दिया गया। एक होटल ने एजाज़ी तौर पर ARNOLD का मुजस्समा भी होटल के बाहर लगा दिया और साथ ही ये भी कि जब तक ये होटल रहेगा आपको मेम्बर-शिप दी जाती है, आप जब…

बिस्कुट बेचने वाला जब चैनल चलाने लगेगा तो वो बिकेगा ही, पुण्य प्रसून बाजपेयी को हटाने के लिए बीजेपी ने दिये 250 करोङ रुपये

पुण्य प्रसून वाजपेयी को चैनल से हटाने की कीमत दी गई 250 करोड़। ये कीमत दी गई ताकि मोदी सरकार के हाहाहूती प्रचार अभियान के सामने देश की ज़मीनी हक़ीक़त आईना बन कर न खड़ी हो जाए। प्रसून और उनकी टीम यही ‘अपराध’ कर रही थी। सरकार के अपने आँकड़ों के आलोक में असली भारत में फैले अँधेरे को दिखा रही थी। सत्ता के शूटरों ने चैनल के मालिक के सामने ‘बंदूक और नोटों की गड्डी’ रख दी। मालिक ने गड्डी उठाई और पूरी टीम को जाने का फरमान सुना…

चौकीदारों से मोदी संवाद के कवरेज़ को लेकर चैनलों की चतुराई चुनाव आयोग को नहीं दिखी

चौकीदारों से मोदी संवाद के कवरेज़ को लेकर चैनलों की चतुराई भी देखे चुनाव आयोग प्रधानमंत्री मोदी ने रेडियो के ज़रिए चौकीदारों से बात की। कार्यक्रम रेडियो का था मगर उसे टीवी के लिए भी बनाया गया। इसे सभी न्यूज़ चैनलों पर लगातार दिखाया गया। सभी चैनलों पर एक ही कवरेज़ रहा और एक ही एंगल से सारे वीडियो दिखे। किसी चैनल ने अपने दर्शकों को नहीं बताया कि स्क्रीन पर जो वीडियो आ रहा है, वो किसका है। बीजेपी की तरफ से प्रसारित हो रहा है या न्यूज़ एजेंसी…

जब आपको किसी पत्रकार की ज़रूरत पड़ेगी तो उसके नहीं होने की वजह आपकी ही चुप्पी ही होगी।

चिराग पटेल का जलना और प्रसून का निकाल दिया जाना व्हाट्स एप के इनबाक्स में अहमदाबाद के पत्रकार चिराग पटेल की ख़बर आती जा रही है। चिराग का शरीर जला हुआ मिला है। पुलिस के अनुसार चिराग पटेल की मौत शुक्रवार को ही हो गई थी। मगर उसका जला हुआ शरीर शनिवार को मिला है। चिराग पटेल TV9 न्यूज़ चैनल में काम करता था। अभी तक चिराग पटेल की हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। आत्महत्या को लेकर भी जांच हो रही है। अहमदाबाद मिरर अख़बार ने…