मोदी कहते रहे बैठ जाओ भैय्या, लेकिन पैसे से जबरन लाये लोग उठकर भागते रहे।

पीएम मोदी जी अपने जन्म दिन की रैली मे जबरन लाये गये लोगो से कहते रहे कि बैठ जाओ भैय्या लेकिन किसी ने नहीं सुनी सारे लोग उठकर भाग गये। पीएम की जनसभा का चार साल मे ये हाल है तो अब आगे क्या हाल होना है सहज समझ सकते है। पीएम मोदी अपने जन्मदिन के दूसरे दिन बनारस हिन्दू विश्विद्यालय के एम्फीथिएटर मैदान पर यह 14 वीं सभा को संबोधित कर रहे थे। थी। राजनीतिक गलियारे में माना जा रहा था कि 2019 के लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जारी…

मायावती के बीजेपी गठबंधन मे शामिल होने के संकेत !

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कुछ दिन पहले एक ऐसा दांव चला कि देखने वाले देखते रह गए. बहाना पेट्रोल-डीजल का दाम बना और निशाने पर नरेंद्र मोदी के साथ राहुल गांधी भी थे. मायावती ने कहा कि पेट्रोल-डीजल के मामले में कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार ने जिस जनविरोधी नीति की शुरुआत की थी, भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार उसी को आगे बढ़ा रही है। मायावती का यह बयान 2019 में नरेंद्र मोदी को हराने का सपना देख रही कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी है. सुनी-सुनाई से…

कांग्रेस ने आजादी की लड़ाई लङी है उसने तमाम महापुरुषों को दिया है – मोहन भागवत

संघ प्रमुख के हाल के दिनों में दिये गये किसी भी बयान को मैं गंभीरता से लेने को तैयार नहीं हूं। वजहें नीचे हैं- 1. भागवत ने कहा- देश की विविधता को सेलिब्रेट किया जाना चाहिए। अगर इस देश में मुसलमानों के लिए जगह नहीं है तो इसका मतलब यह है कि हिंदुत्व भी नहीं है। मैं इस बयान को गंभीरता से लेता, अगर भागवत जी कहते कि मैने यह बात विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जैसे अपने अनुषंगी संगठनों को समझा दी है और वे मेरी बात पर…

जब भी समय मिलता था, लाइब्रेरी में मोटी-मोटी किताबें पढ़ता रहता था – मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने 68 वें जन्मदिन पर एक स्कूल में नन्हें-मुन्नों के बीच पहुंचे तो ‘काका मोदी’ के रूप में नया रिश्ता जोड़ा। संवाद में शिक्षक की भूमिका में प्रधानमंत्री ने बच्चों को कड़ी मेहनत से ही सफलता का मंत्र दिया तो खेल को जरूरी बताते हुए कहा, जो खेलेगा वही खिलेगा। इसी दौरान एक स्टूडेंट ने पीएम मोदी से पूछ लिया कि वह बचपन में कितनी देर तक पढ़ाई करते थे, जिस पर प्रधानमंत्री ने जवाब दिया कि जब भी समय मिलता था, वह पढ़ने बैठ जाते थे।…

निर्मला सीतारमण- जेएनयू मे कुछ ताकतें भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ रही हैं। तो जेएनयू मे नारे लगाने वालो को अभी तक क्यो नही पकङा ?

नई दिल्ली मे रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को आरोप लगाया कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में कुछ ताकतें हैं, जो भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ रही हैं। रक्षा मंत्री ने आगे कहा कि ऐसे लोगों को संस्थान के छात्रसंघ के निर्वाचित प्रतिनिधियों के साथ भी देखा गया है। जब उनसे पूछा गया कि जेएनयू मे नारे लगाने वालों को अभी तक क्यो नही पकङा गया ? तो वे बगले झाँकने लगी। आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब कुछ दिन पहले…

पुजारियो, बाबाओं द्वारा मंदिरों मे बलात्कार किये जाने से लोगो का भगवान पर से विश्वास उठने लगा

धर्म की आङ मे बाबाओ द्वारा किये जा रहे सेक्स कांड के चलते कुछ सालों में भारतीयों का विश्वास भगवान पर से उठ रहा है। यह बात साफ हुई है एक सर्वे में। रिलिजॉसिटी ऐंड एथीज़म के इंडेक्स के मुताबिक भारत में ऐसे लोगों की तादाद बढ़ी है, जो ईश्वर पर यकीन नहीं रखते। साल 2005 में हुए सर्वे में 87 प्रतिशत भारतीयों ने खुद को आस्तिक बताया था, जबकि इस साल सिर्फ 81 प्रतिशत लोगों ने ही यह माना कि वे ईश्वर पर भरोसा रखते हैं। सीधे शब्दों में…

मोदी जी ने देश को डाला आर्थिक संकट के भंवर में, फर्जी आकङो से कर रहे है गुमराह।

कल वित्तमंत्री जेटली ने जो कहा है कि सार्वजनिक क्षेत्र के तीन बैंकों-बैंक आफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक का आपस में विलय किया जाएगा, यह भारतीय अर्थव्यवस्था के पर बढ़ते NPA का ही परिणाम है पानी अब ठीक नाक तक आ पहुचा हैं। इस विलय से यह प्रमाणित हो रहा है कि बैंकों में बढ़ते NPA की समस्या अब विकराल रूप धारण कर चुकी है और कुल 21 सार्वजनिक बैंको को मिलाकर सरकार द्वारा सिर्फ 4 या 5 बड़े बैंक बनाना ही आखिरी उपाय नजर आ रहा है…

शैक्षिक संस्थानों का बीजेपी द्वारा किया जा रहा राजनैतिक प्रयोग बंद हो

100 साल के इतिहास में पहली बार BHU में होगी राजनीतिक सभा, पीएम मोदी करेंगे संबोधित। वैसे तो शैक्षणिक संस्थाओं के राजनीतिक उपयोग और उसके भगवाकरण का आरोप बीजेपी सरकार पर पिछले चार साल से लग रहा है लेकिन यह विरोध अब कहीं ज्यादा मुखर हो गया है वाराणसी में। ऐसा प्रधानमंत्री और बनारस के सांसद नरेंद्र मोदी के बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के एम्फीथिएटर मैदान पर प्रस्तावित जनसभा के चलते है। वैसे भी बीएचयू के स्थापना काल से अब तक के सौ साल के इतिहास में यह पहला अवसर है…

प्यार के लिये इतनी नफरत लाते कहाँ से है लोग ?

प्यार के लिए नफरत ? उस बच्ची के गर्भ में भी तो इसी का अंश है क्या करोगे उसे भी मारोगे उसके पिता की तरह ? क्या बिगाड़ा था इन 2 नहीं 3 मासूमो ने तुम्हारा ? इतनी नफरत लाते कहाँ से हो ? वो लोग तो जरूर आएं जो एससी एसटी एट्रोसिटी एक्ट के दुरुपयोग पर् भाषण चेंप रहे हैं, वो बताएं कि जातिगत विद्वेष के इस रूप पर् उनकी क्या राय है ? तेलंगाना के प्रणय ने अमृता से प्रेम विवाह किया, पढ़े लिखे और मजबूत परिवार से…

मोदी कृपा से शुगर उद्योगपति हुये मालामाल, एक घंटे मे कमाये 846 करोङ

black money of bjp receiving by narendra modi

मोदी के एक फैसले से शुगर कंपनियों के निवेशकों की चांदी, चंद घंटों में ही कमा लिये 842 करोड़ एथेनॉल की कीमतें बढ़ाने के फैसले से शुगर कंपनियों के शेयरों में 20 फीसदी तेजी आई है. शुक्रवार को बाजार खुलने के कुछ घंटों में ही शुगर कंपनियों के निवेशकों की दौलत 842 करोड़ रुपये बढ़ गई। एथेनॉल की कीमतें बढ़ाने के फैसले से शुगर कंपनियों के शेयरों में 20 फीसदी तेजी आई है. शुक्रवार को बाजार खुलने के कुछ घंटों में ही शुगर कंपनियों के निवेशकों की दौलत 842 करोड़…