साध्वी हिरासत में उत्पीड़न की जितनी भी कहानियां सुना रही हैं, सब फर्जी हैं – मानवाधिकार आयोग

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की अनैतिकता पर गौर कीजिए। अदालत ने उन्हें स्वास्थ्य खराब होने के कारण जमानत दी है। मुंबई हाईकोर्ट में दायर उनकी जमानत याचिका में कहा गया था कि वह इतनी बीमार हैं कि किसी दूसरे इंसान के सहारे के बिना चल भी नहीं सकतीं। लेकिन सच क्या है ? यह कि साध्वी चुनाव लड़ रही हैं। यानी अदालत को गुमराह किया गया। इधर समाज को भी गुमराह किया जा रहा है। साध्वी हिरासत में उत्पीड़न की जितनी भी कहानियां सुना रही हैं, सब फर्जी हैं। वह समाज…

मोदी दुबारा पीएम बने तो सूतक बम से मारेगे हाफ़िज़ सईद को, मसूद अजहर को देगे श्राप !

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर मोदी का सीक्रेट प्लान है। अगर मोदी दुबारा पीएम बने  तो वे साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को बनाएंगे रक्षामंत्री, अब ‘सूतक’ से मारेंगे पाकिस्तान को, श्राप से बिलबिलाएगा हाफ़िज़ सईद, चीन भी नहीं बचा पाएगा मसूद अजहर को, अब मोदी का ‘सूतक बम’ मचाएगा कोहराम। गौरी लंकेश की हत्या के दो दिन बाद भाजपा नेता और पूर्व मंत्री जीवराज का बयान आगया था – अगर गौरी लंकेश RSS के बारे में ना लिखती तो आज वो जिंदा होती उनके बयान ने साफ कर दिया कि संघ…

लगता है पीएम मोदी अपने हेलीकॉप्टर से पैसा पहुंचा रहे है, इसीलिए चेकिंग करने वाले आईएएस को चुनाव आयोग ने निलंबित किया है

अब जनता को भी लगने लगा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हेलीकॉप्टर से चुुुुनाव मे पैस  पहुंचा  रहे हैै  तभीी उनकी जाच करने के लिए निर्वाचन आयोग ने ओडिशा के जनरल पर्यवेक्षक को निलंबित कर दिया। यही वो आईएएस मोहम्मद मोहसिन हैं जिन्हें संबलपुर में मोदी के हेलीकॉप्टर की तलाशी लेने पर चुनाव आयोग ने निलंबित कर दिया है।कर्नाटक कैडर के इस आईएएस के ईमानदारी और उनके उसूलों की चर्चा पूरे साउथ में होती रही है।कहा जाता है वे एक कार्य भी गलत होने नहीं देते हैं।   यही वह…

नरेन्द्र मोदी और अमित शाह ने जितना अहित देश का किया है, उससे ज्यादा कही भाजपा का किया है।

इतना तो हो ही गया कि देश के लोगों ने मोदी-शाह के नेतृत्व में भाजपा के राष्ट्रवाद और हिंदुत्व को अपने असली रूप में देख लिया। जब तक पूर्ण बहुमत के साथ यह पार्टी सत्ता में नहीं आई थी तब तक एक कौतूहल था कि पता नहीं, ये क्या करेंगे जब ये अपने दम पर सत्ता में आएंगे। वाजपेयी जी के नेतृत्व में भाजपा पहली बार सत्ता में आयी तो जरूर, लेकिन बैसाखियों के सहारे। ऊपर से अटल जी का अपेक्षाकृत उदारवादी चेहरा। तो…समर्थकों में एक कसक सी रह गई…

बीजेपी में टिकट उसी को मिलता है जो पैसा और कम उम्र की लड़की सप्लाई देता है – हरिओम पांडे, बीजेपी सांसद

लोकसभा चुनाव में टिकट के लिए सभी पार्टियों का चाल चरित्र और चेहरा सामने आता है जिन मौजूदा सांसदो का टिकट आलाकमान ने काट दिया है। अपने संसदीय क्षेत्र में अच्छा काम करने का दावा करने वाले भाजपा सांसद हरिओम पाण्डेय अपना टिकट कटने से इतना नाराज़ है कि कहते है कि पार्टी में टिकट उसी को मिलता है जो पैसा और लड़की सप्लाई करें। दरअसल अम्बेडकर नगर से सांसद हरिओम पांडे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें उन्होंने एक पत्रकार के साथ बातचीत…

राफेल घोटाले मे अवैध सेक्स का संस्कारी वीडियो भी बना है, वीडियो मे वो दोनो कौन है ?

विदेश से एक बड़ा खुलासा होने वाला है  एक VDO भी आ सकता है.फ्रांस के “Le Monde” अखबार के जूलियन बोसो ने खुलासा कर ही दिया..राफेल पर 20 वी खबर 2007-’10 के बीच अनिल अंबानी को फ्रांस मे €60 मिलयन टैक्स देना था..अंबानी ने केवल €7.6 मिलयन देना चाहा..फ्रांस मना कर दिया.. 2010-’12 के बीच फ्रांस से अतिरिक्त €91 मिलयन टैक्स मांगा..यानी कुल टैक्स €151 मिलयन.. अप्रैल 2015 मे मोदी 36 राफेल खरीदा.. और अक्टूबर 2015 मे अंबानी का €143.7 मिलयन माफ हो गया..€7.3 मिलयन में मान गया फ्रांस!!! फ्रांस…

बीजेपी के घोषणापत्र में सरकारी नौकरियों पर एक शब्द नहीं है, तब भी नहीं जब कांग्रेस ने एक साल मे 24 लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा किया है

ब्रेनवॉश जनता पार्टी का घोषणापत्र-रोज़गार की बात नहीं, राष्ट्रवाद ही राष्ट्रवाद ह बीजेपी के घोषणापत्र में सरकारी नौकरियों पर एक शब्द नहीं है। तब भी नहीं जब कांग्रेस और सपा ने एक साल में एक लाख से पांच लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा किया है। तब भी ज़िक्र नहीं है जब सरकारी नौकरियों की तैयारी में लगे करोड़ों नौजवानों में से बड़ी संख्या में मोदी को ही पसंद करते होंगे। तब भी ज़िक्र नहीं है कि जब पिछले दो साल में सरकारी भर्तियों को लेकर कई छोटे-बड़े आंदोलन हुए।…

बीजेपी के पोस्टरों को देखकर लगता है कि 2019 के चुनाव ने 2014 से पीछा छुड़ा लिया है। 2019 का चुनाव 2014 को भुलाने का चुनाव है

2019 का चुनाव सपनों का नहीं है, एक दूसरे आंखें चुराने का चुनाव है 2019 के चुनाव ने 2014 से पीछा छुड़ा लिया है। 2019 का चुनाव 2014 को भुलाने का चुनाव है। बीजेपी के प्रचार पोस्टरों को देखकर यही लगता है कि वह 2014 से भाग रही है। 2014 के पोस्टरों पर बीजेपी ने नए पोस्टर लगा दिए हैं। नए मुद्दों की मार्केटिंग हो रही है। इन पोस्टरों पर ज़बरदस्ती टैगलाइन गढ़े गए हैं। उनका भाव स्कूल में फेल होने वाले उस छात्र की तरह है जो घर आकर…

संविधान का सपना एक आर्किटेक्ट के रूप में नेहरू ने बुना, संविधान सभा मे अंबेडकर को जिताकर लाये थे गांधी और नेहरू।

इंसानियत और हिन्दुस्तानियत की संवैधानियत डाॅक्टर बाबा साहब अंबेडकर की संविधान निर्माण को लेकर भूमिका पर बहस मुबाहिसा संविधान समीक्षकों के बीच होता रहता है। यह भी कहा जाता है कि भीमराव अंबेडकर ही मूलतः संविधान के निर्माता हैं। आलोचक इसके उलट यह भी कहते हैं कि अंबेडकर प्रारूप समिति के अध्यक्ष होने के नाते अपनी सीमित भूमिका में ही रहे। भारत का संविधान बनने की प्रक्रिया से कहीं आगे बढ़कर उन आनुषंगिक परिस्थितियों को देखने की जरूरत है जिनके मद्देनजर संविधान को बनाने की जरूरत महसूस हुई। द्वितीय विश्वयुद्ध…

जो बिजली यूपीए में ढाई रुपये यूनिट हुआ करती थी वो अब पांच रुपये तक कैसे पहुँच गई, इस पर कोई सवाल कयो नही करता ?

इस जमाने में आप तार्किक होना बंद कर दीजिए. आप खुद को बुद्धिजीवी मान के इतराना भी, बुद्धिजीवी होना अब कोई गर्व की बात नहीं रही. जैसे सेकुलर होना. ज्यादा पढ़ना भी, खासकर तब जब आप जेएनयू जैसे संस्थान में लम्बी डिग्री लेने का मन बना रहे हों. आप नए एंगल से सोचना भी बंद कर दीजिए. आपकी बुद्धिमत्ता उसी में है कि आप उसी ढर्रे पर सोचे जिस पर बहुसंख्यक (धर्म वाला नही) वर्ग जा रहा हो. भीड़ बनिए. नया रास्ता मत खोजिए. नया रास्ता खोजने पर भीड़ को…