डीयू छात्रसंघ चुनाव में इस्तेमाल ईवीएम हमारी नही – चुनाव आयोग

चुनाव आयोग ने कहा – दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में इस्तेमाल ईवीएम हमारी नही है। अब बङा सवाल यह है कि क्या ये ईवीएम मशीने लालकिले के पीछे किसी कबाड़ी से लिये गये थे ? आज दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव मे गिनती के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी का नायाब मामला सामने आया है! सेक्रेटरी पोस्ट पर कुल 8 उम्मीदवार हैं, 9वां बटन NOTA का है. लेकिन एक EVM में 10 नम्बर बटन को 40 वोट मिले हुए हैं! इन 40 वोटों पर मामला फंसा हुआ है. प्रशासन NSUI-ABVP से…

छात्रसंघ के चुनावों मे छात्रों का बीजेपी से हुआ मोहभंग, हर विश्वविद्यालय से एबीवीपी का सूपड़ा साफ

पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ के बाद भाजपा के लिए बुरी खबर राजस्थान यूनिवर्सिटी, जयपुर से आयी है। पंजाब यूनिवर्यसिटी, चंडीगढ में लेफट की जीत के बाद राजस्थान यूनिवर्सिटी, जयपुर में भी निर्दलीय उम्मीदवार विनोद जाखड़ अध्यक्ष पद विजयी हुए है। उपाध्यक्ष और महासचिव पद पर भी अखिल भारतीय विदार्थी परिषद के उम्मीदवार एनएसयूआई के हाथों हार गए है। जयपुर की हार भी चंडीगढ़ की तरह ही है। राजस्थान में भाजपा की सरकार है। जयपुर के सांसद भाजपा के है। वैसे में अनुसूचित जाति से संबंधित एक निर्दलीय उम्मीदवार भारी मतों से…

केजरीवाल पर एक और बड़ी मुसीबत, इस गलती की वजह से छिन सकता है ‘आप’ का चुनाव चिन्ह

चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के मुखिया दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल को चुनाव चिन्ह निरस्त करने का नोटिस भेजा है. चुनाव आयोग ने यह नोटिस इनकम टैक्स की एक रिपोर्ट के बाद भेजा है जिसमें 2014-15 में दिल्ली चुनाव के समय पार्टी पर नियम विरूद्ध चंदा इकट्ठा करने में पारदर्शिता नहीं बरतने का आरोप है. सेंट्रल बोर्ड आॅफ डायरेक्टर टैक्सेज यानी सीबीडीटी की भेजी रिपोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी से 20 दिनों के अंदर जवाब मांगा है. कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए आयोग ने…

‘आप’ विधायक अलका लांबा को ट्वीटर पर नमो-आरएसएस समर्थक क्यों दे रहे हैं गंदी गंदी गालियां ?

दिल्ली सरकार की आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने समलैंगिकता की धारा 377 पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने ट्वीटर एकाउंट से पोस्ट कर ट्रोल करने की कोशिश की तो नमो समर्थकों ने उनके पोस्ट को गंदी गंदी गालियों और अपशब्दों से भर दिया. किसी ने उनको सेक्स रैकेट चलाने का दोषी ठहरा दिया तो किसी ने ‘कुतिया’ और ‘बेवकूफ’ जैसे अपशब्द का प्रयोग किया. दिल्ली के चांदनी चैक से आप विधायक अलका लांबा ने नमो समर्थकों को ‘भक्त’ नाम से…

एलर्ट- दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल समेत पूरे उत्तर भारत में बिजली की आपूर्ति बाधित होगी।

खबर आ रही है कि एनटीपीसी की 4200 मेगावाट क्षमता वाले पूर्वी भारत में स्थित प्लांट को कोयले की सप्लाई करने वाले खदान का स्टॉक लगभग खत्म हो गया है. इससे दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल समेत पूरे उत्तर भारत में होने वाली बिजली की आपूर्ति बाधित हो सकती है, हालांकि ऐसी खबरें पहले भी आती रही है पर इस बार मामला कुछ अलग है। क्योंकि सोचने की बात तो यह भी है कि यदि कोयला खत्म होने से यह स्थिति आ रही है तो आखिर सरकार…

मोदी जी के लिए अच्छी खबर, सर्वे में देश के टॉप 3 मुख्यमंत्रियो में एक भी बीजेपी का नहीं, पहले नंबर पर अरविंद केजरीवाल, दूसरे पर ममता बनर्जी।

मोदी और अमित शाह के लिए अच्छी खबर है, एक सर्वे में देश के टॉप तीन मुख्यमंत्रियो में एक भी बीजेपी का नहीं है। पहले नंबर पर अरविंद केजरीवाल सबसे लोकप्रिय, दूसरे पर ममता बनर्जी और तीसरे स्थान पर नवीन पटनायक है। सर्वे के मुताबिक आगामी चुनावों में महिला सुरक्षा, किसानों के मुद्दे और आर्थिक समानता सबसे अहम रह सकते हैं। इसके बाद जो मुद्दे खास होंगे, उनमें शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता, सांप्रदायिक सद्भाव, क्षेत्रीय भाषाएं आदि अहम रहेंगे। हाल ही में पॉलिटिकल एडवाइजर ग्रुप I-PAC ने एक सर्वे किया…

बीजेपी के गुंडो ने गुंडई को विचारधारा मान लिया है – कन्हैया कुमार

दिल्ली के किरोड़ीमल कॉलेज में कँवलप्रीत कौर को थप्पड़ मारकर एबीवीपी के गुंडों ने आज फिर साबित कर दिया कि उन्होंने गुडई को ही विचारधारा मान लिया है। जैसे-जैसे भाजपा और संघ की असलियत सामने आ रही है, इन संघियों की बेचैनी बढ़ती जा रही है। कॉलेज के गार्डों ने शर्मनाक ढंग से इन संघियों का साथ दिया। लड़कियाँ न संस्था-संस्थानों में सुरक्षित हैं न सड़कों पर – कन्हैया कुमार देश की राजधानी दिल्ली मे 56 इंच की छाती 20 एकड़ के घर में हजारों क़िस्म की सुरक्षा में अकेले…

आम आदमी के लिए शुरू हो रही केजरीवाल सरकार की ऐसी सेवायें, जो दूसरे प्रदेशों मे उपलब्ध नहीं है

दिल्ली सरकार के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह साबित कर दिया कि उनकी सोच दूसरे नेताओं से काफी अलग है. यूं तो हर राज्य में सरकारें आम आदमी के लिए कई तरह की योजनाएं बनाती हैं, लेकिन दर्जनों बार सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने के बाद भी क्या उन योजनाओं से आम आदमी को पूरी तरह लाभ मिल पाता है ? इसकी हकीकत हम और आप अच्छी तरह जानते हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार ने दिल्ली की जनता को सरकारी दफ्तरों के चक्कर कटवाने के…