रवीश कुमार ने क्यों कहा कि, ‘आप एक दिन मानव बम बन जायेंगे, जो कहीं भी फट जायेगा’

एक पब्लिक मीटिंग में एनडीटीवी के स्टार एंकर और मशहूर टीवी पत्रकार रवीश ने मंच से कहा कि एक दिन हम सब मानव बम बन जाएंगे, जो कहीं भी फट जायेगा. उनका आशय हिन्दुस्तान के नागरिकों के अंदर तेजी से फैल रही धार्मिक हिंसा है. 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार बनने के बाद देश में अच्छे दिन और विकास को ढूंढ पाना मुश्किल है लेकिन धार्मिक हिंसा हर कहीं मिल जायेगी. गोहत्या, राममंदिर, लव जिहाद, घर वापसी जैसे ऐसे सैकड़ों ज्वलनशील मुद्दे हैं जो देश को बांट रहे…

ESIC Recruitment 2018: 539 पदों पर निकली भर्तियां, जल्द करें आवेदन

esic-recruitments-2018

 ESIC Recruitment 2018 के तहत कुल 539 पदों पर भर्तियां निकली हैं. इन पदों के लिए इच्छुक उम्मीदवार विभाग की आधिकारिक वेबसाइट esic.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं. आवेदन करने की अंतिम तारीख 5 अक्टूबर 2018 है. पद और योग्यता से जुड़ी अन्य जानकारी नीचे दी गई है… इन पदों के लिए निकली हैं भर्तियां- ESIC ने जिन पदों के लिए भर्तियां निकाली हैं उनमें खास तौर पर सोशल सिक्योरिटी ऑफिसर, मैनेजर और सुपरिटेंडेंट के पद शामिल हैं. इतना मिलेगा वेतन- इन पदों के लिए चुने जाने वाले उम्मीदवरों को 44,900 रुपये वेतन…

बीजेपी को मिल रहे अघोषित चंदे का खेल समझिए

black money of bjp receiving by narendra modi

बीजेपी को मिल रहे अघोषित चंदे का खेल समझिए। बीजेपी एक तरफ ईमानदारी का ढोंग करती है और दूसरी ओर भृष्टाचार की गंगा मे गोते लगाती है। कांग्रेस को पूरे देश से कुल चंदा मिला लगभग 42 करोड़ और बीजेपी को मिला कुल 532 करोड़। यानि 10 गुना से ज्यादा। ये तो हुआ घोषित आंकड़ा। इसके अलावा अघोषित यानि छिपे चंदे अडानी,अंबानी जैसो के जो बीजेपी को दिए जाते हैं रैलियों, रोड शो, खर्च खराबे ठाठबाट से अंदाजे ही लगाऐं तो हो जाता है कांग्रेस के मुकाबले करीब 1हजार गुना।…

एन्टीडिप्रसेन्ट एक प्रकार की दवाई है जो कि डिप्रेशन के लक्षणों से छुटकारा देती हैं।

एन्टीडिप्रसेन्ट एक प्रकार की दवाई है जो कि डिप्रेशन के लक्षणों से छुटकारा देती हैं। यह 1950 में पहली बार विकसित की गई थी और तब से नियमित रूप से प्रयोग में आ रही है। आज लगभग 30 विभिन्न प्रकार की एन्टीडिप्रसेन्ट उपलब्ध है। और ये पाँच टाइप की सबसे मुख्य प्रकार की है – 1. SSRI (सेलेक्टिव सेरेटोनिन री-अपटेक इनहिबिटर) 2. SNRI (सेरेटोनिन एण्ड नारएड्रीनलीन री-अपटेक इनहिबिटर) 3. NASSA (नारएड्रीनलीन एण्ड स्पेसिफिक सेरेटोनिनर्जिक एन्टीडिप्रेसेन्टस) 4. MAOI (मोनो एमीन आक्सीडेज इनहिबिटर) 5. TRICYCLIC ट्राइसाइक्लिक ये किस तरह कार्य करती है…

चार साल से मोदी सिर्फ रंगबिरंगे कपड़े पहनकर नगाड़ा और बांसुरी बजा रहे हैं, उपलब्धि तो शून्य है

चार साल से मोदी विदेश जाकर रंगबिरंगे कपड़े पहनकर नगाड़ा और बांसुरी बजा रहे हैं, लेकिन विदेशी निवेश कितना लाए ? विदेशों में मोदी जी का डंका बजता है। इसे साबित करने के लिए उन्होंने कई देशों में बांसुरी और नगाड़े बजाए। विदेश में रह रहे भारतीयों से नारे लगवाए। बराक भाई के साथ फोटो खिंचवाई और जिनपिंग के साथ हिंडोला झूले। प्रधानमंत्री बनने के ​बाद उन्होंने कहा कि हम विदेश नीति को एकदम अलग दिशा में ले जाएंगे। लेकिन जब एक साल बीता तो कभी मोदी के प्रशंसक रहे…