असली हिजङे वे हैं जो हिजङो को हिजङा कहते है !!

टैम्पो से वे छः सात लोग एक साथ नीचे उतरे हाय हाय और तालियों के अलग अन्दाज ने बता दिया कि वे आ गये हैं. आसपास के घरों के लोग अपने अपने छज्जों से किसी तमाशे झगड़े और नंगनाच की उम्मीद में झाँकने लगे थे। सुरेश फटाफट दौड़कर नीचे गया उसने मुस्कराते हुये उनमें से कुछ से हाथ मिलाया और कुछ से हाथ जोड़कर नमस्ते की और सुरेश के बेटे ने बड़ों के नाते सबके पाँव छुए उन्होंने पूछा क्या इसी की शादी हुई है .सुरेश के हाँ कहते ही…

कामिक्स बुक मे बाल नरेंद्र मगरमच्छ को क़ाबू नहीं कर रहे थे बल्कि धीरू अंबानी के यहाँ डिनर भी कर रहे थे।

1990 के दशक में धीरू भाई अंबानी ने नरेंद्र मोदी को खाने पर बुलाया था। तभी उन्होंने कहा था कि ये लंबी रेस का घोड़ा हैं। प्रधानमंत्री बनेंगे। अनिल अंबानी ने प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर टाइम्स ऑफ़ इंडिया में लिखा है। 17 सितंबर 2016 को। इस लेख से पहली बार पता चला कि प्रधानमंत्री जी सिर्फ गुफ़ाओं में तपस्या नहीं कर रहे थे। कामिक्स बुक बाल नरेंद्र की कथा के अनुसार मगरमच्छ को क़ाबू नहीं कर रहे थे बल्कि धीरू भाई अंबानी के यहाँ डिनर भी कर रहे थे। वैसे…

पुरुषवादी समाज को मां चाहिए, पत्नी चाहिए, बहन चाहिए लेकिन बेटी नहीं चाहिए

जब किसी लड़की की तुलना किसी लड़के से की जाती है, तब ये लड़की के साहसी होने का प्रतीक होता है लेकिन अगर किसी लड़के की तुलना लड़की से की जाती है तब लोग उसका मज़ाक उड़ाना शुरू कर देते हैं। लोगों को लगता है कि नारी कायरता और कमज़ोर होने का प्रतीक है। भारत को 1947 में आज़ादी ज़रूर मिल गई लेकिन समाज का एक बड़ा हिस्सा अभी भी गुलाम की तरह जी रहा है। ज़रा आप खुद ही सोचिए जो स्त्री एक नया जीवन देने की क्षमता रखती…

ये बात ज़हन में बैठा लें कि महिला की इज्ज़त उसका व्यक्तित्व है, योनि नहीं ।

Shambhavi Singh भारत में औरतों के वस्तुकरण का प्रचलन रहा है, द्रौपदी से लेकर अहिल्या तक, सीता से लेकर माधवी तक। ये भारत की मैगज़ीन की नायिकाओं जैसी हैं जिनकी तस्वीर ऊपर कवर पर लगा कर मैगज़ीन को बेस्टसेलर बनाया जाता है। उपरोक्त महिलायों को ग्रंथों की महिमामंडन के लिए इस्तेमाल किया गया है, और अब ये भारत में एक चलन है। मौजूदा सरकार ने भी यही दोहरी नीति अपनाई है। मत्रिमंडल में महिलाओं को शामिल तो किया है, लेकिन आवाज़ छीन ली है। हम अपने देश में औरतों की कितनी इज्ज़त…

राफेल डील नरेन्द्र मोदी को ले डूबेगा

black money of bjp receiving by narendra modi

लड़ाकू विमान रेफल के सौदे ने अब बड़ा खतरनाक मोड़ ले लिया है। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने इसी विमान से मोदी सरकार पर बम बरसा दिए हैं। वह विमान बनने के बाद भारत आएगा या नहीं, कुछ पता नहीं लेकिन यह भी पता नहीं कि मोदी सरकार अब अपनी जान कैसे बचाएगी ? जैसे बोफर्स राजीव गांधी को ले डूबा, कहीं वैसे ही रेफल मोदी को न ले डूबे। ओलांद ने एक फ्रांसीसी पत्रकार को रेफल-सौदे के बारे में जो इंटरव्यू दिया है, उसमें उन्होंने साफ-साफ कहा…