मैने राहुल गांधी से पूछ ही लिया आप को भाजपा पप्पू क्यों कहती है – कीर्ति राणा

मैने राहुल गांधी से पूछ ही लिया आप को भाजपा पप्पू क्यों कहती है कीर्ति राणाइंदौर । जिस टेबल पर हम पत्रकार मित्र बैठे थे वहां तो अपना प्रश्न पूछने का नंबर लगा नहीं लेकिन अपन ने भी तय कर रखा था पूछूंगा तो सही। आखिर टेबल पर वो प्रश्न के जवाब में कह रहे थे कि यम द्वार जो है वह अहं के त्याग का प्रतीक है। अपना ध्यान तो लगा हुआ था कि बस जवाब खत्म हो जाए। वो जैसे ही अपने सामने से निकलने लगे, अपन ने…

मोदी सरकार का गोदी मीडिया को आदेश, डूबती अर्थव्यवस्था का भांडा उर्जित पटेल पर फोड़ा जाए।

उर्जित पटेल वह व्यक्ति है जो पहले 99 थप्पड़ खा चुके है और सौवें थप्पड़ पर उन्होंने मारने वाले का हाथ पकड़ लिया है मारने वाला अब हैरान हो रहा है कि इसने 99 थप्पड़ कैसे खा लिया थे और जब अब सौवाँ थप्पड़ क्यो नही खा रहा है ? सारे गोदी मीडिया चैनलो को उर्जित पटेल की सुपारी दे दी गयी है, अब उसे खलनायक बताया जा रहा है, अरुण जेटली कह रहे है उनको बाँट रहे थे हमको डांट रहे हो। उर्जित का गुनाह यह है कि उसने…

सुप्रीम कोर्ट ने सिर्फ कीमत ही तो पूछी है टेक्नोनॉजी तो नही, तो इससे देश की सुरक्षा को खतरा कैसे है ?

राजीव गांधी के पास डोभाल नहीं था, इसलिए उन्होंने बोफोर्स तोप की कीमत संसद को बता दी और देश को बोफोर्स घोटाले के बारे में पता चल गया. वाह मोदी जी वाह ! अगर बोफोर्स तोप, ऑगस्टा वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर, स्कॉर्पीन सबमरीन, बराक मिसाइल इन सबकी कीमत न पता होती, तो देश में आज तक कोई रक्षा सौदा घोटाला न होता. अहा कितना सुंदर देश होता. न कीमत, न कमीशन, न घोटाला. भ्रष्टाचार मुक्त भारत जिंदाबाद। क्या सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस देश के लिए खतरा हैं ? सुप्रीम कोर्ट के…

जितने पैसे मे सरदार पटेल की मूर्ति बनी उतने पैसे मे 5 IIM, 2 IIT और इसरो के 6 मिशन पूरे हो जाते

जितने पैसे मे सरदार पटेल की मूर्ति बनी उतने पैसे मे 5 IIM, 2 IIT और इसरो के 6 मिशन पूरे हो जाते रिपोर्ट के मुताबिक एक आईआईटी कैम्पस बनाने की अनुमानित लागत 1167 करोड़ रुपये आएगी इस प्रकार मूर्ति में आए खर्च में दो आईआईटी बन सकते हैं। वहीं, एक एम्स तैयार करने का खर्च 1103 करोड़ बताया गया है यानी स्टेच्यू ऑफ यूनिटी की लागत में दो एम्स बनकर तैयार हो सकते हैं। Statue of Unity: गुजरात में बने लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल के स्टेच्यू ऑफ यूनिटी…

दिल्ली मे जहरीली हवा से कैसे बचें ?

जहरीली हवा से कैसे बचें ? डॉ. वेदप्रताप वैदिक दिल्ली की हवा में इतना जहर तैर रहा है कि अस्पतालों में मरीजों का अंबार लगता जा रहा है। वायु-प्रदूषण के कारण पांच साल से छोटे लगभग एक लाख बच्चे हर साल अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं। सर्वोच्च न्यायालय इतना परेशान हो गया है कि उसने दिवाली पर पटाखों पर तरह-तरह के प्रतिबंध लगा दिए हैं लेकिन आजकल पटाखों के बिना भी हवा इतनी जहरीली हो गई है कि कहीं-कहीं वह सामान्य से पांच गुना ज्यादा जहरीली है। सरकार…