कांशीराम भारतीय राजनीति के बेमिसाल रसायनशास्त्री थे

कांशीराम राजनीति के बेमिसाल रसायनशास्त्री भारतीय राजनीति में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ. और दूसरी बार ऐसा कब होगा, यह सवाल भविष्य के गर्भ में है. लगभग 50 साल की उम्र में एक व्यक्ति, वर्ष 1984 में एक पार्टी का गठन करता है. और देखते ही देखते देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश, जहां से लोकसभा की 85 सीटें थीं, में इस पार्टी की मुख्यमंत्री शपथ लेती है. यह पार्टी पहले राष्ट्रीय पार्टी और फिर वोट प्रतिशत के हिसाब से देश की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बन जाती है.…

अजीम प्रेमजी ने दान किए 52750 करोड़ रुपए, कभी आपने अंबानी अडानी के बारे मे सुना कि उन्होंने कोई दान किया ?

विप्रो के मालिक अजीम प्रेमजी ने विप्रो की 34 फीसदी हिस्सेदारी परोपकार कार्यों के लिए दान कर दी है। यह शेयर 52,750 करोड़ के बराबर है। अब तक प्रेमजी कुल विप्रो के 67 फीसदी हिस्सेदारी दान कर चुके हैं और 67 फीसदी के शेयर की कीमत 1.45 लाख करोड़ रुपए है। देश में अजीम प्रेमजी से बड़े और भी उद्योगपति है। लेकिन अभी तक किसी ने भी अपने कंपनी शेयर इतने बड़े पैमाने के लिए दान नहीं की है। देश के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी के बारे में अक्सर…