मोदी के कुशल नेतृत्व में देश हुआ पूरी तरह बर्बाद, उबरने मे लगेगें अब 50 साल

हम क्यों कह रहे हैं कि भारतीय अर्थव्यवस्था वेंटिलेटर पर लेट ही गयी हैं। आज खबर आई हैं कि इस साल मार्च में इंडस्ट्रियल ग्रोथ 5.3 फीसदी से घटकर -0.1 फीसदी पर आ गई है. ये आंकड़े 23 महीने में सबसे कम है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि आईआईपी ग्रोथ के गिरने का अनुमान पहले से था. लेकिन ये नंबर्स अनुमान से बेहद खराब है. ऑटो सेल्स में आई गिरावट का असर भी इन आंकड़ों पर है। कल ही प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद के सदस्य रथिन रॉय का बयान…