जब मोदी सरकार के दलित मंत्री ने कहा ‘अयोध्या में राम मंदिर नहीं, बौद्ध मंदिर था’ तो ज़ोर से हंस पड़े मीडियाकर्मी

ramdas athawale on ayodhya ram mandir and baudh mandir
  •  
  • 24
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

शनिवार को राजस्थान के जयपुर में मोदी सरकार के दलित मंत्री रामदास अठावले ने अयोध्या बाबरी मस्जिद-राम मंदिर विवाद पर जब प्रेसवार्ता में कहा कि, अगर वहां देखा जाये तो वो जगह बौद्ध मंदिर की है. यह सुनकर वहां बैठे मीडियाकर्मी ज़ोर से हंस पड़े. अठावले ने इधर-उधर देखते हुए अपनी बात पूरी की और कहा कि, अगर वहां खुदाई की जाये तो बौद्ध मूर्ति और बौद्ध मंदिर के अवशेष मिलेंगे.

अपने विवादित बयानों के चलते अक्सर सुर्खियों में रहने वाले केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि, अयोध्या में पहले जिस जगह हिन्दू पक्ष राम मंदिर होने का दावा कर रहे हैं दरअसल, वहां पहले बौद्ध मंदिर था. हिन्दुओं ने बौद्ध मंदिर तोड़ कर राम मंदिर बनाया. फिर मुगल शासनकाल में राम मंदिर तोड़ कर बाबरी मस्जिद बनी. अभी मस्जिद को भी तोड़ दिया है और मामला न्यायालय में विचाराधीन है. इस प्रकार उस स्थान पर बौद्धों का दावा होना चाहिए, लेकिन हम पहले से चल रहे हिन्दू-मुस्लिम के विवाद के बीच नहीं पड़ना चाहते.

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।

loading...

आगे अठावले ने कहा कि, अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट आपसी सहमति से विवाद का हल निकालने का फैसला दे सकती है. उन्होंने अपनी राय रखते हुए कहा कि, उस 66 एकड़ ज़मीन का हिन्दु-मुस्लिम आपस में बैठ कर बंटवारा कर लें. जिसमें 40-45 एकड़ हिन्दुओं को मंदिर बनाने के लिए दे दिया जाये और 20-25 एकड़ जमीन मुसलमानों को मस्जिद बनाने के लिए दे दिया जाये. हिन्दू अपना मंदिर बनाये और मुसलमान अपनी मस्जिद बनाये.

People Reading this too…

जिनका अपना कोई इतिहास नहीं होता, वे दूसरों के इतिहास से छेड़छाड़ करके उसे अपना बनाते हैं

शैक्षिक संस्थानों का बीजेपी द्वारा किया जा रहा राजनैतिक प्रयोग बंद हो


  •  
  • 24
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    24
    Shares
  • 24
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment