अनूप जलोटा जैसे शख्स को बिगबॉस का हिस्सा नहीं बनना चाहिए था

  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अव्वल तो अनूप जलोटा जैसे उम्र दराज़ और लोगों के बीच बाकमाल भजनों की वजह से जगह बनाने वाले शख्स को बिगबॉस जैसे शो का हिस्सा नहीं बनना चाहिए था। बिगबॉस में होना मतलब कंटेस्टेंट कोघण्टे के हिसाब से दर्जन गालियां उगलनी होंगी और सर फटने की अवस्था व्यवस्था तक चीख चीख के बताना होगा कि वो किसी के बाप से कम नहीं।

अनूप जी भी इंसान की तरह मनी माता के मोह से नहीं बच सके और आ गए, आ ही गए तो मैं क़भी क़भी नज़र डालने वाली दर्शक की तरह उनका इस शो में इस्तक़बाल करती हूँ।

शो के दूसरे दिन यानि सोमवार को देखा 10 मिनिट कि प्रेस कॉन्फ्रेंस टाइप खेला चल रहा है।

कीवी और प्रोटीन स्मूदी के असर से दुबली चमकदार सृष्टि रोड़े के कंधे इतने चिकने थे कि नज़र तक फिसल रही थी मेरी। हां, तो बढ़ते हैं आगे, सृष्टि जी ने शो के कमज़ोर कंटेस्टेंट के तौर पर अनूप जलोटा और जसलीन को नॉमिनेट किया।

ससुराल वाली सिमर बड़ी बुझी हुई दिखी हालांकि शो में आने से पहले पार्लर के झमेले निपटाए ही होंगे। पर पूरे जोश, शिद्दत , और जन्म सिद्ध अधिकार के साथ वह सवाल उछाल रहीं थीं।

तो कुछ यूं थे सवाल

आप लोग में केमिस्ट्री क्यों नहीं दिखती ? आप लोग गुरु शिष्या हो ?
अनूप जी आप टास्क के दौरान फिजिकल दौड़ भाग कैसे करेंगे ?

आप लोग को दर्शक जानना चाहते हैं व्हिच काइंड ऑफ केमिस्ट्री ?
आप कभी अपने संबंधों की हामी भरते हैं क़भी इनकार ???

यहां सोशल मीडिया पर भी जिनके घर का एक बर्तन इधर उधर नहीं होगा वो ट्रोल कर रहे हैं। जैसे जसलीन उन्हीं के घर की अबोध अपढ़ मासूम नाबालिग बेटी है और अनूप ने उसे टॉफी में टोना मिला कर सम्मोहित कर लिया।

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।

loading...

बस भी कीजिये, अपनी अपनी देखिये झांकिए कितने उथले गिरेबान है आपके, किसी ने हिम्मत की है सामने आने की तो उसे यूँ बेइज़्ज़त करने वाले आप सब कौन हैं ?

और रही बात गुरु शिष्या की , तो बने बनाए खांचे से निकलये , 30 वर्ष के गुरु अनूप ने 10 बरस की जसलीन को तीसरी क्लास में अंग्रेजी नहीं पढ़ाई जो उनका रिश्ता मात्र श्रद्धा और वात्सल्य तक ही रहे।

संगीत का मूल ही प्रेम है। दोनों एक कला में बंधे हुए प्रेम या आकर्षण या क्षणिक काम क्रीड़ा से भर भी उठे तो कला कैसे अपमानित हुई ? वो छिप कर नहीं आये ….किस हक से ट्रोलर्स अनूप जलोटा को आशाराम कह रहे हैं ??

मुझे तो नहीं लगता कि आसाराम जैसे कुकुरलिंगा रोग से अनूप जलोटा प्रेरित है। ये रिश्ता उन दोनों का है।  रहे या टूटे…..ये भी उन दोनों के ही दायरे में रहेगा।

आप अपना देखिये, रिश्ते की साली और भाभी से मज़ाक करते वक्त आपके पजामो में हलचल हो तो आशाराम या राम रहीम आप हुए अनूप जलोटा नहीं।

ये रिश्ता उनके बीच है , वहीं रहने दीजिए, उनका देह धर्म, उनकी मानसिक स्थिति, उनका आपसी नफा मुनाफा है जिसके लिए वो परस्पर जिम्मेदार हैं।

कुछ लोग जसलीन को पैसे का लालची बता रहे हैं, बिल्कुल संभव है, तो पैसे का लालची कौन नहीं बन्धु ?

क्यों सरकारी नौकर ही ढूंढे जाते हैं लड़कियों के ब्याह के लिए ? काहे उनके बेरोजगार प्रेमियों की लंका लगाते हैं ?

ऐसा है, वैसे भी टिकता नहीं, ये प्रेम है जितना है जब तक है उन्हें करने दीजिए।

आप अपना काम कीजिये, वो दोनों आप से ज्यादा समझदार हैं, देख लेंगे अपना। रही बात केमिस्ट्री की तो ऑलटाइम जानू बाबू हम मरे जा रहे तुम्हारे बिना इसे ही केमिस्ट्री मत कहो यार।

  •  
    1
    Share
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment