बेवफा पति ने चलती कार में गर्लफ्रेंड के सामने पत्नी को मारी गोली

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में, जहां एक शख्स ने चलती कार के अंदर अपनी गर्लफ्रेंड के सामने अपनी पत्नी की गोली मार दी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। घटना निवाड़ी थाने के सौंदा इलाके की है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने आरोपी पति और उसकी गर्लफ्रेंड को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, आरोपी की पत्नी गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है। जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एक स्कूल में काम करते है दोनों आरोपी 

पुलिस ने आरोपी की पहचान यशवंत राणा के तौर पर की है। वह राजनगर एक्सटेंशन के प्रसिद्ध स्कूल में ट्रांसपोर्ट इंचार्ज है। वहीं आरोपी महिला की पहचान अंशुल के तौर पर हुई है। वह उसी स्कूल में टीचर है जहां यशवंत काम करता है। महिला मुरादनगर की रहने वाली है। यशवंत की पत्नी शिवानी गाजियाबाद के एक अस्पताल में भर्ती है। फिलहाल वह आईसीयू में भर्ती है। शिवानी के पिता सुनील कुमार ने बताया कि, यह प्लान राणा और अंशुल का है। उन्होंने बताया कि, राणा और शिवानी की शादी अप्रैल 2016 में हुई थी। उनका एक बच्चा भी है। जिसे कुछ हेल्थ समस्या है।

इलाज के बहाने मायके से लाया था पत्नी को

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।

loading...

सुनील कुमार ने बताया कि, राणा राजनगर एक्सटेंशन में रहता है। वह बुधवार को शाम चार बजे मेरे घर दोघाट(बागपत) आया और अपने बच्चे औप पत्नी को यह कहकर ले गया कि, वह दिल्ली एम्स में बच्चे का इलाज कराएगा। इसके बाद वह मेरी बेटी को गाजियाबाद फ्लैट पर आकर छोड़ दिया। मेरी बेटी के बार-बार कहने के बावजूद भी वह बच्चे को इलाज के लिए दिल्ली नहीं ले गया। एक दिन बाद राणा शिवानी और बच्चे के साथ शाम 6 बजे मुरादनगर पहुंचा। इसके बाद उसने अंशुल का फोन कर बुलाया और उसे भी गाड़ी में साथ में ले लिया।

चलती कार में राणा ने शिवानी को गोली मारी

कुमार ने बताया कि, इसके बाद वह गाड़ी गंगा नगर को ओर ले गया। वहां से वह सड़क से दूर ले जाकर मेरी बेटी के सीने में गोली मार दी। अंशुल पीछे की सीट पर बैठी थी। उसने शिवानी का पकड़ रखा था। शिवानी ने बेहोश होने से पहले राणा को अंशुल से कहते हुए सुना कि, वह इसकी बॉडी को ठिकाने लगा देगा। इसके बाद उसने अंशुल को कार से उतार दिया। इसके बाद वह कार को मेरठ की ओर ले गया। इसके मेरी बेटी बेहोश हो गई।

जिंदा देख पत्नी को फिर से की जान से मारने की कोशिश

जब उसने देखा कि शिवानी जिंदा है। तो उसने फिर अंशुल को फोन किया। इसके बाद अंशुल मुरादनगर से फिर से कार में आ गई। इसके बाद वह गाड़ी को गाजियाबाद की ओर ले गए। इस दौरान अंशुल ने तकिए की मदद से शिवानी की मुंह दबाकर हत्या करनी चाही। जिसके चलते शिवानी को फिर से होश आ गया और इसका विरोध करने लगी। जिससे वह शीशे पर पैर मारने लगी। पेट्रोलिंग कर पुलिस ने जब शोर सुना तो उन्होंने कार का पीछा किया। लगभग 9.30 बजे दिल्ली मेरठ रोड़ पर पुलिस ने कार को पकड़ा और शिवानी को गंभीर अवस्था में अस्पताल पहुंचाया।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment