सीबीआई का दुरुपयोग कर लालू प्रसाद यादव को खत्म करना चाहते थे मोदीजी।

  •  
  • 264
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सीबीआई डायरेक्टर वर्मा द्वारा सीवीसी को दी रिपोर्ट में मोदीजी के कुकर्मों के बारे में पढ़िए। कैसे सीबीआई का दुरुपयोग कर लालू प्रसाद यादव जी को “फ़िनिश” करना चाहते थे मोदीजी।

CBI के निदेशक आलोक वर्मा ने केंद्रीय सतर्कता आयोग को सौंपी जाँच रिपोर्ट में कहा है कि PMO( प्रधानमंत्री कार्यालय), सुशील मोदी , CBI के उस वक़्त सहायक निदेशक राकेश अस्थाना और नीतीश कुमार लालू परिवार को समाप्त करना चाहते थे।

यहाँ तक कि CBI की लीगल विंग के Director ने केस दर्ज करने की अनुमति यह कहकर ख़ारिज कर दी थी कि इस केस में कोई तथ्य नहीं है। सब बनावटी बातें है। और तो और केस के जाँचकर्ता अधिकारी सीबीआई रेड के ख़िलाफ़ थे क्योंकि इस मामले में कोई प्रूफ़ नहीं था और राजनीतिक कारणों से बनाया गया यह एक काल्पनिक केस था।

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।

loading...

CBI निदेशक ने बताया कि मैं क़ानूनी प्रक्रिया के तहत ही इस केस की जाँच करना चाहता था लेकिन PMO के उच्च अधिकारी और सुशील मोदी लगातार दबाव बना रहे थे। राकेश अस्थाना इन्क्वायरी की बजाय सीधा केस करना चाहते थे। वो लोग लगातार नीतीश कुमार के संपर्क में थे और उनसे दिशा निर्देश प्राप्त कर रहे थे। नीतीश कुमार पूर्णत लूप में थे।

मैं CBI अधिकारियों की सुरक्षा और क़ानून व्यवस्था को लेकर चिंतित था क्योंकि वो दो पूर्व मुख्यमंत्रियों (लालू प्रसाद, राबड़ी देवी) और तत्कालीन उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के घर पर छापा मारने जा रहे थे।

मोदीजी, इतनी घिनौनी और बदबूदार राजनीति करने की क्या ज़रूरत थी। मर्द थे तो चुनाव करवाते और फिर बिहार में सरकार बनाते। ख़ैर, वक़्त आपका भी इतिहास लिखेगा – मनीष सिंह


  •  
  • 264
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    264
    Shares
  • 264
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment