बीजेएनपी के कार्यकर्ता घर-घर जा कर बताएंगे आरटीपी के फायदें – संतोष कुमार यादव

santosh kumar yadav - bjnp - right to promise - आरटीपी
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

लोकसभा चुनाव नज़दीक है। ऐसे में सभी राजनैतिक पार्टियों ने अपने अलग-अलग मुद्दे लगभग चुन लिये हैं। वहीं, दूसरी ओर अन्य राजनैतिक पार्टियों से अलग भारतीय जन नायक पार्टी ने आरटीपी यानी “राइट टू प्रोमिस” के मुद्दे पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। इसके लिए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष कुमार यादव ने सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर आरटीपी से होने वाले लाभ के बारे में जानकारी देने का जिम्मा सौंप दिया है।

क्या है आरटीपी?

राइट टू प्रोमिस यानी आरटीपी का मतलब है चुनाव के समय राजनैतिक पार्टियों के उद्घोषणा पत्र और वादों से है जिसे चुनाव जीतने के बाद पूरा कराने का मतदाताओं के पास कानूनी अधिकार होगा।

पार्टी अध्यक्ष संतोष कुमार यादव का कहना है कि यदि देश में आरटीपी की व्यवस्था लागू हो जाती है तो न केवल युवाओं का भविष्य सुनिश्चित होगा बल्कि शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार और विकास आदि के क्षेत्र भी सुनिश्चित होंगे।

पार्टी अध्यक्ष का कहना है आरटीपी लागू होने के बाद कोई भी पार्टी या नेता देश की जनता से झूठे वादे नहीं कर सकेगा। इस प्रकार मतदाताओं को भी अपने प्रतिनिधि चुनने में आसानी होगी।

इसके अलावा झठे वादे करने वाले नेताआंे पर चुनाव आयोग की ओर से भविष्य में कोई भी चुनाव लड़ने पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी जायेगी। साथ ही उन राजनैतिक पार्टियों को भी 10 सालों के लिए बर्खास्त कर दिया जायेगा।

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।

loading...

इस मामले में संतोष यादव ने देश के सर्वोच्च न्यायालय में आरटीपी लागू कराने के लिए एक पीआईएल पहले ही दाखिल कर दिया है। जिसकी पैरवी वो खुद कर रहे हैं।

आरटीपी अन्य मुद्दों से अलग क्यों है?

भारतीय जन नायक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष कुमार यादव से बात करते हुए उन्होंने बताया कि राइट टू प्रोमिस का मुद्दा दूसरी राजनैतिक पार्टियों से बिल्कुल अलग है। उन्होंने कहा कि आरटीपी देश और जनता दोनों के हितों के लिए काफी महत्वपूर्ण है।

उनका कहना है कि अब तक किसी भी पार्टी ने चुनाव जीतने के बाद 100 प्रतिशत वादों को पूरा नहीं किया है। ज्यादातर नेता तो चुनाव जीतने के बाद वादों को भूल जाते हैं।

ऐसे में नेता और राजनैतिक पार्टियां सदियों से बेचारी जनता को मूर्ख बना कर लूटते आये हैं और देश हित या जनता हित में कोई काम नहीं किया हैं।

पार्टी अध्यक्ष का कहना है कि आरटीपी नेताओं के गले की हड्डी है जिसे वो कभी लागू नहीं करवाना चाहते हैं। केवल भारतीय जन नायक पार्टी ही आरटीपी के मुद्दे पर अकेले खड़ी है और लागू करवा कर रहेगी। अब तक जनसभाओं में जहां कहीं आरटीपी की बात रखी है वहां पार्टी को जनता का पूर्ण समर्थन मिला है।

संतोष यादव का कहना है कि है उनकी पार्टी का लक्ष्य है कि देश के युवाओं का भविष्य सुनिश्चित हो। बेरोजगारी दर घटे, महंगाई कम हो और सभी को सुरक्षा, बेहतर शिक्षा व स्वास्थ्य सेवाएं मिले और यह तभी मुमकिन हो सकेगा जब हमारे देश में आरटीपी की व्यवस्था लागू होगी।

मुख्य ख़बरें पढ़ने के लिए


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment