मोदी दुबारा पीएम बने तो सूतक बम से मारेगे हाफ़िज़ सईद को, मसूद अजहर को देगे श्राप !

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर मोदी का सीक्रेट प्लान है। अगर मोदी दुबारा पीएम बने  तो वे साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को बनाएंगे रक्षामंत्री, अब ‘सूतक’ से मारेंगे पाकिस्तान को, श्राप से बिलबिलाएगा हाफ़िज़ सईद, चीन भी नहीं बचा पाएगा मसूद अजहर को, अब मोदी का ‘सूतक बम’ मचाएगा कोहराम।

गौरी लंकेश की हत्या के दो दिन बाद भाजपा नेता और पूर्व मंत्री जीवराज का बयान आगया था – अगर गौरी लंकेश RSS के बारे में ना लिखती तो आज वो जिंदा होती

उनके बयान ने साफ कर दिया कि संघ और भाजपा की आलोचना किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीँ होगी, जो भी इनकी हिटलरशाही के खिलाफ बोलेगा उसका यहि हाल होगा !
.
गौरी लंकेश की हत्या को 15 दिन भी नहीँ गुजरे कि त्रिपुरा में पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या कर दी गयी इस हत्या में गिरफ्तार दो लोगों ने साफ कर दिया की उनको हत्या के लिए IPFT की तरफ़ से पैसे दिए गये थे
IPFT कौन है – Indigenous Peoples Front Of Tripura वर्षों से NDA की समर्थक पार्टी रही है।

19 सितम्बर को यहाँ बड़ी हिंसा हुई, इस पर CPM के संगठन TRUGP और IPFT में झड़प हो गई, शांतनु भौमिक वही कवर कर रहे थे। IPFT के समर्थकों ने शांतनु पर हमला कर उनका अपहरण कर लिया इसके बाद उनकी हत्या हो गयी !

इसके कु़छ हफ्ते बाद – यूपी में महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ के पौत्र की भी बम फोड़कर हत्या कर दी गयी ! ये कुछ दिनो से भाजपा सरकार के संरक्षण में चल रहे अवैध रेत माफिया के खिलाफ लड़ रहे थे ! उनके विरोध को भी बम के धमाके से शांत कर दिया गया !

प्रो. कलिबुर्गी, डाभोलकर, पानेसर जैसे लेखक पत्रकारों के अलावा सत्रह से ज्यादा और पत्रकारों कि आवाज़ हमेशा के लिए खामोश करदी गयी है !

व्यापमं केस में लगभग 70 से ज्यादा गवाहो की ऑन रिकॉर्ड हत्या हो चुकी और 250 से ज्यादा आज तक लापता है ! जो लापता है शायद उनकी हत्याओं की रिपोर्ट दर्ज नहीं पायी !

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।

loading...

भाजपा के स्टार प्रचारक आशाराम के खिलाफ गवाही देने वाले 12 से ज्यादा लोगो की हत्या कर दी गयी !

अमित शाह के खिलाफ मामले की सुनवाई कर रहे जज लोया की हत्या की खबर तो खूब गूँजी, लेकिन आज तक इस हत्या की जांच पूरी नहीं हुई और इसी बीच जस्टिस लोया मामले में गवाह दो और जजों की हत्या कर दी गयी !

हत्या करना और करवाना, हत्यारों को प्रशिक्षण और प्रोत्साहन देना इसके साथ ही हत्यारे पैदा करना और हत्यारों को सुपारी देना इनकी पैदाइशी विचारधारा रही है !

ऐसे में अगर भाजपा उम्मीदवार आतंकी प्रज्ञा बोल रही है की हेमंत करकरे उनके श्राप से मरा है तो मानकर चलिए हेमंत करकरे की हत्या के लिए सुपारी (श्राप) दी गयी थी !

वैसे भी हेमंत करकरे की मौत शुरू से ही सन्धिग्ध रही है !  हेमंत करकरे की हत्या के एक महीने बाद ही केंद्रीय मंत्री ए आर अंतुले ने शहीद हेमंत करकरे के मौत की जांच कराने की मांग की थी ! अंतुले ने कहा था कि हेमंत करकरे की मौत किसी साजिश के तहत हुई है या आतंकवादियों की गोली से मारे गए हैं इसकी जांच होनी चाहिए ! इसके अलावा बिहार के विधायक राधाकांत यादव ने भी उनकी मौत की जांच की मांग की थी ! उन्होंने भी आरोप लगाया गया था कि 26 नवंबर 2008 को हुए आतंकी हमले के दौरान करकरे की मौत की साजिश दक्षिणपंथी चरमपंथियों द्वारा रची गई थी और करकरे की हत्या आतंकवादियों की गोली से नहीं बल्कि पुलिस साथियों की साजिश के कारण हुई थी !अपने फायदे और आतंक फैलाने के लिए हत्या करना और करवाना इनका पेशा है ! ऐसे में आतंकी प्रज्ञा को शहीद हेमंत करकरे की हत्या की साजिश में मुख्य मुजरिम मानकर दुबारा इस हत्या की जाँच हो तो बहुत चेहरे बेनकाब तो होंगे ही इनका खूनी राष्ट्रवाद भी सबके सामने आजायेगा !

और हाँ ये भी सच है की अब लिखने में भी डर लगने लगा है, संघ और भाजपा के खिलाफ लिख रहे दोस्त अब तक जिंदा है तो इसलिए नहीँ की उनकी कलम में धार कम है, बल्कि इसलिए जिंदा है क्योंकि वो अभी तक इन भेडियों कि नजर में नहीँ आये !


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment