मोदी जी गौतम अडानी पर क्यो मेहरबान है ?

  • 91
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

The Dailygraph Need Your Help  हमें आपकी मदद चाहिए

झारखण्ड के गोड्डा में लग रहे अडानी के थर्मल पावर प्लांट से बांग्लादेश को फायदा होगा इस पावर प्लांट से बनने वाली कुल 1600 मेगावाट बिजली बांग्लादेश को सप्लाई की जायेगी जिससे –

1) बंगलादेश रौशन होगा.
2) वहां उद्योग धंधे बढ़ेंगे
3) लोगों को रोजगार मिलेगा;
4) गाँव-देहात सब रौशन हो जायेगा
5) बच्चे बिजली की रौशनी में पढ़ लिख कर तरक्की करेंगे.
6) यानि नुकसान भारत और भारत वासियों का, फायदा अडानी ओर तरक्की बांग्लादेश की।

भारत को फायदा: घंटा फायदा सारा फायदा अडानी का.

भारत को नुक्सान होगा-
1- इस प्रोजेक्ट के लिए झारखण्ड सरकार ने अपनी बिजली नियामन नीति में जो बदलाव किये हैं उससे उसे हर साल करीब 300 करोड़ का घाटा होगा. AG की रिपोर्ट यही कहती है।

2-  पर्यावरण को न पूरा किया जा सकने वाला नुक्सान होगा।
3-  जमीनी पानी का स्तर बहुत गिर जायेगा।

जनता को नुक्सान –
1- इस प्रोजेक्ट के लिए करीब 1000 एकड़ जमीन अधिग्रहित की जा रही है. ये सारी खेती की जमीन है. जिस पर अब कोई उपज नहीं होगी।

2- किसान के लिए जमीन का पर्याय मुआवजा नहीं हो सकता. क्योंकि पैसा तो चंद दिनों में ख़त्म हो जायेगा. किसान मालिक से मजदुर बन जायेगा।

3- जमीनी जल स्तर गिरने से आस पास की खेती प्रभावित होगी।

4-थर्मल पावर की राख उड़ेगी जिससे आस पास रहने वालों में छाती के रोग बढ़ेंगे।

सवाल ये है कि –
1-  जब सब फायदा बांग्लादेश का और अडानी का है तो ये प्रोजेक्ट बांग्लादेश में ही क्यों नहीं लगाया जा रहा ?

2- इसके लिए कोयला भी ऑस्ट्रेलिया से आयातित किया जायेगा. फिर क्यों मोदी सरकार देशवासियों और देश को इतना बड़ा नुक्सान पहुँचा रही है ?

loading...
  •  
    91
    Shares
  • 91
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment