केजरीवाल पर एक और बड़ी मुसीबत, इस गलती की वजह से छिन सकता है ‘आप’ का चुनाव चिन्ह

  •  
  • 4
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के मुखिया दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल को चुनाव चिन्ह निरस्त करने का नोटिस भेजा है. चुनाव आयोग ने यह नोटिस इनकम टैक्स की एक रिपोर्ट के बाद भेजा है जिसमें 2014-15 में दिल्ली चुनाव के समय पार्टी पर नियम विरूद्ध चंदा इकट्ठा करने में पारदर्शिता नहीं बरतने का आरोप है.

सेंट्रल बोर्ड आॅफ डायरेक्टर टैक्सेज यानी सीबीडीटी की भेजी रिपोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी से 20 दिनों के अंदर जवाब मांगा है. कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए आयोग ने आप से चुनाव चिन्ह रद्द करने की बात कही है. दरअसल, मामला 2014-15 का है जिस समय दिल्ली में विधानसभा चुनाव हुए थे. रिपोर्ट के अनुसार उस वक्त आप पार्टी के बैंक खाते में 67.67 करोड़ रूपये चंदे की रकम क्रेडिट हुई थी, जब्कि पार्टी ने 54.15 करोड़ रूपय जमा होने की जानकारी दी थी. वहीं, 13.16 करोड़ रूपयों का हिसाब पार्टी की ओर से नहीं मिला.

इसके अतिरिक्त आप पर यह भी आरोप है कि, पार्टी ने 2 करोड़ रूपये हवाला के जरिये लिये जब्कि उस रकम को चंदे के रूप में दिखाया गया. वहीं, सीबीडीटी का यह भी आरोप है कि पार्टी ने अपने वेबसाइट और चुनाव आयोग को चंदे की गलत जानकारी दी थी.

केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच चल रही राजनैतिक लड़ाई से पूरा देश अच्छी तरह वाकिफ है. ऐसे में करीब तीन साल पुरानी जांच रिपोर्ट का 2019 के लोकसभा चुनाव के वक्त अचानक बाहर आना विपछी दलों को एक बार फिर से मोदी सरकार पर हमला करने का मौका देगा.

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।

loading...

Read This News Too :

‘आप’ विधायक अलका लांबा को ट्वीटर पर नमो-आरएसएस समर्थक क्यों दे रहे हैं गंदी गंदी गालियां ?

आम आदमी के लिए शुरू हो रही केजरीवाल सरकार की ऐसी सेवायें, जो दूसरे प्रदेशों मे उपलब्ध नहीं है

मोदी जी के लिए अच्छी खबर, सर्वे में देश के टॉप 3 मुख्यमंत्रियो में एक भी बीजेपी का नहीं, पहले नंबर पर अरविंद केजरीवाल, दूसरे पर ममता बनर्जी।


  •  
  • 4
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    4
    Shares
  • 4
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment