उत्तर प्रदेश के किसान गन्ने की खेती कम करे, शुगर के मरीज बढ रहे है – योगी आदित्यनाथ

  • 204
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

The Dailygraph Need Your Help  हमें आपकी मदद चाहिए

देश मनोरंजन के दौर से गुजर रहा है चाय की दुकान पान की दुकान पकोङी की दुकान पंक्चर की दुकान फिर नाले से गैस फिर बतख से ऑक्सीजन की सफलता के बाद अब गन्ने से शुगर के मरीज बढने की खोज।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गन्ना किसानों के भुगतान को लेकर अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है। उन्होंने यह साफ किया है कि अगर गन्ना किसानों के हितों को ध्यान में नहीं रखा जाएगा तो दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। यह बात योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के बागपत में एक जनसभा के दौरान कही।

साथ ही सीएम योगी ने किसानों को सलाह दी है कि वे गन्ने के अलावा और भी फसलें खेतों में उगाने की आदत डालें। यूपी सहित देश भर में डायबीटीज के मरीजों की संख्या बढ़ने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, ‘अन्य फसलें भी बोइये, दिल्ली का बाजार पास है। वैसे भी लोग शुगर के कारण बीमार होते जा रहे हैं।’ सीएम ने मिलों को भी चेताते हुए कहा कि चीनी मिलों ने अगर 15 अक्टूबर तक गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान नहीं किया तो मिल मालिकों पर डंडा भी चलेगा।

सीएम योगी और केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी मंगलवार को दिल्ली-सहारनपुर राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास करने बागपत पहुंचे थे। दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे के शिलान्यास समारोह में योगी ने कहा कि बीएसपी व एसपी सरकारों में बिजली देने में भेदभाव होता था। हमने बिना किसी भेदभाव के शहरों और गांवों में पर्याप्त बिजली की व्यवस्था की है।

योगी ने कहा उनकी सरकार ने गन्ना किसानों के लिए 36,000 करोड़ रुपये का भुगतान सीधे खाते में किया है बाकी के बचे हुए 10,000 करोड़ रुपये का भुगतान भी जल्द किया जाएगा। योगी ने कहा कि चीनी मिलों को घाटे से उबारने के लिए जल्द ही चीनी मिलों को सॉफ्ट लोन दिया जाएगा। गन्ना किसानों के हितों की बात करते हुए योगी आदित्यनाथ ने किसानों से यह भी अपील की कि वह गन्ना के अलावा भी दूसरी फसलों को उगाने पर ध्यान दें।

loading...
  •  
    204
    Shares
  • 204
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment